ABOUT US

Stop Acid Attacks (SAA) is a campaign against acid violence. A survivor of an acid attack requires immediate medical, financial and psychological support on human grounds. But, the judicial procedures in this country do not assure any such intervention or help to the survivor until a court announces so. It is this loophole in the procedure of justice that we work on by generating immediate medical and final support for the victims and providing them and their families the needed psychological and legal support.


We work as a bridge between survivors and the society, as many victims tend to isolate after losing their faces, hibernating into their solitude and misery, due to the ignorance of the government and civil society. Since the country has never had any study to assess the situation of survivors who face the brutal aftermath of acid attacks, SAA aims at researching and tracking more acid attack cases to compile a data to assess the actual situation of victims. With a team of prominent activists, journalists, politicians, celebrities and responsible civil society members, SAA is trying to take the cruel reality of this crime to people. We are using visual, dramatics and literary means to strengthen our campaign and drive home the message with an impact.



हमारे बारे में 

स्टॉप एसिड अटैक एक अभियान है जो एसिड हिंसा से पीड़ित महिलाओं को लड़ने का हौसला देने का, आत्मनिर्भर बनाने का और उन्हें समाज में सम्मानजनक जिंदगी देने का कार्य करता है. हम चाहते हैं कि महिलाएं जिन्हे समाज के कुछ वीभत्सतम अपराधों में शुमार तेजाब हमले से जूझना पड़ा है, खुद को अकेला और कमजोर महसूस न करें। एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते हमें अपनी सामाजिक जिम्मेदारियां समझते हुए इन महिलाओं को उनकी नई जिन्दगी  की राहें आसान करने में अपना योगदान जरूर देना चाहिये। यह वाकई दुखद है कि २१वीं सदी में भी समाज में महिलाओं पर तेजाब से हमले जैसे जघन्य अपराध हो रहे हैं और समाज इन अपराधों पर कोई अंकुश नहीं लगा पा रहा है।
एसिड अटैक की वजह से पीड़ितों को समाज में उस तरह का स्थान नहीं मिल पाता, जो उन्हें मिलना चाहिए. हम एसिड अटैक पीड़ितों और समाज के बीच में एक पुल बनाने का काम करते हैं. भारत में तेज़ाब पीड़ित महिलाओं कि स्थिति बहुत खराब है. सरकार और सिविल सोसाइटी की तरफ से कोई  ठोस कदम न उठाये जाने की वजह से एसिड अटैक पीड़ितों को घुट-घुट कर जीना पड़ता है. इस वेब पोर्टल को शुरू करने का उद्देश्य यही है कि एसिड अटैक पीड़ितों के विषय में अधिक से अधिक खोज व जानकारी एकत्र करके उनकी वास्तविक समस्याओं को समझना है. यह हमारे देश में एसिड अटैक पीड़ितों के लिए समर्पित अपनी तरह का पहला प्रयास है. हम एसिड अटैक पीड़ितों कि मदद के लिए विभिन्न तरह के अभियान चलाकर लोगों को इसके प्रति जागरूक और उनके लिए मदद जुटाने का काम करता है. एक्टिविस्टों, पत्रकारों, राजनीतिज्ञों, सेलिब्रेटी और अन्य सिविल सोसाइटी के सदस्यों के माध्यम से एसिड अटैक पीड़ितों कि आवाज़ को बड़े स्तर तक पहुंचाने का काम करते हैं. हम एनजीओ नहीं है और न ही बनना चाहते हैं. वर्तमान में करीब चार मिलियन एनजीओ काम कर रहे हैं, हम एक और एनजीओ बनाकर उसी भीड़ का हिस्सा नहीं बनना चाहते. 


Our Mission

We work with partners and stakeholders towards the elemination of acid and other forms of acid and other form of burnvoilence, and the protection and promotion of survivors' rights, including acess to medical, legal, social and economic services.

Our Vision

Our vision is to make India free from violence, particularly acid burn violence. Where all survivors of violence have access to justice and are full member of the society. 


हमारा मिशन 

हम विभिन्न संगठनो, और लोगों से जो एसिड अटैक के मुद्दे से जुड़े हैं, उनके साथ मिलकर एसिड अटैक की घटनाओं को रोकने, एसिड अटैक से पीड़ित लोगों की सुरक्षा, अधिकार के लिए काम करते हैं.  हम उन्हें स्वाथ्य, कानूनी व अन्य जरूरतों के लिए आर्थिक सहायता भी मुहैया करते.

हमारा विजन 

हमारा विजन देश को हिंसा से मुक्त बनाना है, खासकर महिलाओं को एसिड अटैक की हिंसा से बचाना है. सभी एसिड अटैक पीड़ितों की मदद करके उन्हें समाज की मुख्यधारा में शामिल करना है.

Chhanv

    About Us

    SAA is a campaign against acid violence. We work as a bridge between survivors and the society, as most of the victims of this brutal crime, which is much more grave in its impact than a rape, have isolated themselves after losing their face. Due to ignorance of the government and civil society, most survivors find no hope and stay like an outcast, in solitude. SAA aims to research and track acid attack cases and compile a data to get the actual situation of survivors.

    Our Mission

    We work with partners and stakeholders towards elimination of acid and other forms of burn violence and protection of survivors' rights. The process of justice to an acid attack victim remains incomplete until she gets immediate medical, legal and economic help, along with the critical social acceptance. Our vision is to free India from this crime, which reflects the flaws of our patriarchal society and abusive attitudes. We want survivors to have access to fast justice and fight back the irreparable impact of this crime.

    Support Us

    Any amount you can donate to us, no matter how small, will be very gratefully received and put to good use helping acid and burns violence survivors. Your help could help pay for dressings and medical supplies for recuperating patients. A small help could help survivors with vital physical rehabilitation after an attack, including physical therapy and nursing.

    Click this link to donate for a good cause.

    Join Us

    We welcome all the volunteers to come forward and join us in our camping and contribute in whatever way possible. Please visit the Join Us page for more details.